दिपावली पर रहे सावधान, हो सकते हो ठगी के शिकार | Be careful

Spread the love
Be careful
Be careful

आजकल कई लोग ऑनलाइन शॉपिंग करना पसंद करते है, अब कुछ ही दिनों बाद दिपावली है तो साफ है की लोग शॉपिंग भी करेंगे ॥ अब जहा अधिकांश लोग आज भी परिवार के साथ बाजार मे जाकर शॉपिंग करना पसंद करते है वही कुछ लोग अपनी दिनचर्या या फिर समयाभाव के कारण घर बेठे ही ऑनलाइन शॉपिंग कर लेते है और इसी समय का फायदा उठाते है ठग

ऑनलाइन शॉपिंग करते समय फर्जी वेबसाईट के द्वारा सामान पर 50 से 60 प्रतिशत छूट दिखाकर लोगों को ऑनलाइन ठग्गी का शिकार बना लेते है

केसे बनते है लोग ऑनलाइन ठगी का शिकार Be careful

Be careful आजकल ऑनलाइन शॉपिंग सबसे ज्यादा की जा है जिसके कारण साइबर क्राइम बढ़ रहा है साइबर अपराधियों के द्वारा बड़ी – बड़ी कंपनियों के ऐप और उनकी साईट को कॉपी कर ली जाती है जिस पर वह हर सामन पर 50 से 60 प्रतिशत का डिस्काउंट देते है और सोशल मिडिया पर एक लिंक जनरेट कर के अधिक से अधिक शेयर करते है

जिसमे कई लोग इस झांसे मे आ जाते है और उन साइट, एप से शॉपिंग करते है ओर सामान खरीद ने के लिए पेमेंट भी कर देते है. बाद मे कोई भी सामान की डिलेवेरी नहीं होती है बाद मे खरीददार को पता चलता है की वह ऑनलाइन ठगी का शिकार हो गया है

Google Customer Care Fraud, कस्टमर केयर फ्रोड जाने कैसे बचे

केसे पता करे फर्जी साईट का

Be careful आजकल इन्टरनेट पर शोपिंग की कई तरह की फर्जी साईट उपलब्ध है, जो की शोपिंग करने पर कई तरह के ऑफ़र देती है एवं प्ले स्टोर पर भी कई इसी तरह के app भी उपलब्ध है. फर्जी साईट का पता करने के लिए आप साईट के URL पर अगर https नहीं होकर केवल http ही हो तो और साथ में URL में साईट के डोमेन नेम के अलावा अगर कुछ और लिखा हो तो वह संधिग्त हो सकता है

अगर ऑनलाइन शोपिंग करते वक्त किसी साईट पर 60 से 80 प्रतिशत का डिस्काउंट हो तो वह साईट एक फर्जी साईट हो सकती है दिवाली के समय में whatsapp , facebook आदि सोशल साईट पर कई लिंक भेजे जाते है जैस की “इस लिंक पे क्लिक करे मेने आप को कुछ भेजा है “आदि लिंक से भी आप ऑनलाइन ठगी का शिकार हो सकते है

Be careful
Be careful

कैसे बचा जा सकता है ऑनलाइन ठग्गी से

इंटरनेट पर कई प्रकार की ऑनलाइन साईट रजिस्टर्ड है जो आपको अपनी साईट की पूरी जानकारी उपलब्ध करवाती है. ऐसी तमाम जानकारी आपको देती है जो पूरी तरह से संतुष्ट कर सकती है. आप किसी साईट से ऑनलाइन शोपिंग कर रहे जो पूरी तरह से नई हो या फिर अविश्वसनीय हो तो ऐसे में आप COD ( कैश ओन डिलीवरी ) के माध्यम से शोपिंग कर सकते हो .

जहा तक… बड़ी – बड़ी कंपनियों के app से ही ऑनलाइन शोपिंग करे. किसी भी रजिस्टर्ड वेब साईट के URL के आगे हमेशा एक लॉक लगा होता है जिसे पता किया जा सकता है की यह साईट सिक्योर साईट है.

कुछ जरूरी बाते जिन पर ध्यान रखना चाहिये Be careful

  • अगर कोई अनजान व्यक्ति कॉल करके मोबाईल मे कोई Aap / अप्लीकेशन डाउनलोड करने को कहे तो ऐसा कभी ना करे , ऐसा करने से आपका मोबाईल हैक हो सकता है
  • अगर कोई कॉल कर के एटीएम या क्रेडिट कार्ड बंद होने का कहकर बैंक की जानकारी मांगे तो कभी ना दे , जरूरत होने पर अपनी बैंक शाखा मे संपर्क करे ।
  • एटीएम से पैसे विड्रॉल करते समय विशेष ध्यान रखे, अपने पिन नंबर किसी को ना बताये
  • नेटबैंकिंग का यूज करते समय किसी भी सार्वजनिक नेट या वाईफाई का यूज ना करे ।
  • बैंक लॉन या लॉटरी से संबंधित आने वाले कॉल को जहा तक इगनोर करे, जरूरी हो तो संबंधित ऑफिस जाकर ही जानकारी ले
  • अपने मोबाईल को हमेशा लॉक रखे व अनावश्यक Aap डाउनलोड ना करे
  • अगर आपका करंट अकाउंट है या फिर आपके अकाउंट मे ज्यादा Payment रहता है और आप संबंधित बैंक या थर्ड पार्टी Aap का यूज करते है तो आपको otp व Aap दोनों के लिए अलग अलग मोबाईल रखना चाहिये

ये कुछ महत्वपूर्व जानकारी है जिससे है ऑनलाइन ठगी से बच सकते है खास बात ये है की ऑनलाइन ठगी के अनेक रास्ते है और सरकार, बैंक, एनजीओ व सामाजिक संगठन जब तक जनता को जागरूक करते है ठग एक और नया रास्ता निकाल लेते है अगर इन ठगों से बचना है तो सबसे अच्छा उपाये है लालच छोड़ना ॥

ये आर्टिकल आपको केसा लगा कमेन्ट कर के जरूर बताये अगर जानकारी अच्छी लगे तो शेयर करे ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुच सके।

ध्यान दे अगर आप दुकानदार है या फिर आप किसी ऑफिस, मौल, वर्कशॉप के ऑनर है तो अपने शॉप पर अग्निसमन यंत्र यानि आग बुझाने का सिलेंडर जरुर रखे … इसमे सबसे बड़ी प्रोब्लम ये होती है की कहा से ख़रीदे, कैसे ख़रीदे 

Leave a Reply

Your email address will not be published.